7 Amazing Haldi ke fayde – Benefits of Haldi

Haldi ke fayde – हल्दी हर भारतीय रसोई पायी जाती है और ऐसी कोई सब्जी नहीं है जिसमे हल्दी का उपयोग न होता हो,

हल्दी हर भारतीय रसोई पायी जाती है और ऐसी कोई सब्जी नहीं है जिसमे हल्दी का उपयोग न होता हो , हल्दी सब्जी का स्वाद तो बढाती ही है साथ ही उसे रंगीन भी बनाती है।

अब बात करते है हल्दी के फायदे ( Haldi ke fayde ) क्या – क्या है , हल्दी के आयुर्वेदिक फायदे बहुत से है , जो मैं इस आर्टिकल में आपको बताऊँगा।

Haldi Powder ke fayde

Haldi Ke Fayde ( Benefits Of Haldi )-

1.टॉन्सिल में हल्दी के फायदे ( Haldi ke fayde ) –

अगर आपको टॉन्सिल्स हो गए है तो आप हल्दी का उपयोग करके टॉन्सिल से छुटकारा पा सकते है।

हल्दी के चाय बनाकर आप पी सकते है , चाय में चीनी के जगह आप शहद का इस्तेमाल करे ,

जब चाय गुनगुनी रह जाये तब आप इसमें शहद मिला ले और दूध में डालकर भी आप हल्दी ले सकते है।

2.गुम चोट के लिए लाभदायक

एक गिलास गुनगुने दूध में 2 से 3 ग्राम हल्दी मिलाकर पिने से गुम चोट में आराम मिलता है हल्दी से। और इससे शरीर की थकान भी दूर होती है।

3.खून निकलने पर

अगर आपके छोटी – मोटी चोट लग गयी है या चाकू से हाथ कट गया है , तो आप उस पर तुरंत हल्दी लगा ले ,

ऐसा करने से आपका खून भहना बन्द हो जायेगा। हल्दी में एंटी-बायोटिक और एंटी-वायरल गुण होते है ,

जिससे आपकी चोट में इन्फेक्शन भी नहीं होगा।

इन्हे भी पढ़े

4.कैंसर से बचाव करे

हल्दी में करक्यूमिन तत्व मौजूद होता है और एंटी-कैंसर के गुण पाए जाते है , जिसकी सहायता से हमारे शरीर में होने वाली कैंसर कोशिकाओ की गति धीमीं पढ़ जाती है अर्थात कैंसर कोशिकाओ की बढ़ोतरी रुक जाती है।

कुछ आयुर्वेदिक डॉक्टर बताते है , हम कैंसर मरीज को हल्दी के पानी कई सेवन कराते है , जिससे उन्हें कैंसर से रिकवर होने में सहायता मिलती है।

5.खून की सफाई यानि रक्त शोधन

हल्दी खून की सफाई यानि रक्त शोधन करती है, हल्दी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जो खून की गंदगी को दूर कर देते है अर्थात खून में गन्दगी जमा नहीं होने देते है , अगर खून में गंदगी जमा नहीं होगी तो शरीर का खून गाढ़ा नहीं होगा ।

6.त्रिदोष नाशक

हल्दी त्रिदोष नाशक होती है , इसके उपयोग से आप तीनो दोषो वात , पित्त और कफ को संतुलित रख सकते है।

आयुर्वेद के अनुसार वात , पित्त और कफ के कारण ही अधिकतर बीमारिया होती है। वात , पित्त और कफ को संतुलित करके आप कई बीमारियों से बच सकते है।

7.पायरिया में हल्दी के फायदे –

सेंधा नमक , हल्दी पाउडर , एक से २ बूँद सरसो का तेल मिलाकर , दांतो पे मंजन के रूप में उपयोग करने से पायरिया में आराम मिलता है। क्योंकि हल्दी एन्टीबैक्ट्रियल होती है।

Our Old Blog

Add a Comment

Your email address will not be published.